भारत में पहला नेशनल पार्क 1936 में हेली नेशनल पार्क, जो कि अब जिम कार्बेट नेशनल पार्क है,  के नाम से वर्तमान उत्तराखंड में स्थापित किया गया था. 1970 तक भारत में केवल 5 राष्ट्रीय उद्यान थे.  1972 में  Wildlife Protection Act
 लागू किया गया व 1973 में रॉयल बंगाल टाइगर को बचाने के लिए प्रोजेक्ट टाइगर की शुरुवात हुई जिससे आज नेशनल पार्कों की संख्या बढ़कर 104 तक पहुंच गई है. आइए जानते हैं भारत के इन नेशनल पार्कों या राष्ट्रीय उद्यानों के बारे में.

National Parks of India

 

  1. जिम कार्बेट नेशनल पार्क (Jim Corbett National Park) – (पूर्व में  हेली नेशनल पार्क) भारत का पहला नेशनल पार्क है जो कि 1936 में वर्तमान उत्तराखंड में स्थापित किया गया था. यह नैनीताल जिले में स्थित है. प्रोजेक्ट टाइगर की शुरुआत भी यहीं से हुई थी. 1318 वर्ग किमी में स्थित यह पार्क 586 से भी अधिक प्रजाति के जीव  जन्तुओं का आवास है.
  2. मुदुमलाई राष्ट्रीय उद्यान एवं अभयारण्य (Mudumalai National Park) – तमिलना़डु में नीलगिरी  पहाड़ियों पर स्थित यह अभयारण्य अनेक संकटग्रस्त जीवों का आवास है जिसमें भारतीय हाथी, भारतीय जंगली भैंसा (Indian Bison) , तेंदुआ (Indian Leapord) आदि शामिल हैं. इसे 1940 में स्थापित किया गया  यह टाइगर रिजर्व 321 वर्ग किमी  में विस्तृत है.
  3. कान्हा राष्ट्रीय उद्यान (Kanha Tiger Reserve) – मध्य प्रदेश के मांडला व बालाघाट जिलों में 940 वर्ग किमी में फैला यह नेशनल पार्क 1955 में स्थापित किया गया था.  यह पार्क रॉयल बंगाल टाइगर (Royal Bengal tiger), भारतीय तेंदुआ (Indian leopards), स्लोथ भालू (sloth bear), बारहसिंहा और इंडियन वाइल्ड डॉग (Indian wild dog) का घर है. रूडयार्ड किपलिंग की प्रसिद्ध किताब और धारावाहिक जंगल बुक की भी प्रेरणा इसी स्‍थान से ली गई थी. 
  4. सरिस्का राष्ट्रीय उद्यान (Sariska Tiger Reserve) – अलवर , राजस्थान में स्थित यह अभयारण्य भारत में सब से प्रसिद्ध राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है. 1955 में इसे वन्यजीव आरक्षित भूमि घोषित किया गया था. सरिस्का का महत्व बाघों की वजह से है परन्तु 2005 में यहां से बाघ विलुप्त हो गये थे. पुनर्वास कार्यक्रम के बाद अब 10 से अधिक बाघ यहां मौजूद है.
Advertisement